Trending Discussions

मोदी 2.0 द्वारा पहले ही दिन लिए गए यह बड़े कदम

by IRC-ADMIN - Jun 3 2019 4:48PM

यहां लोक सभा चुनाव समाप्त हुए और वहां सभी राजनीतिक दलों के लोग लंबी छुट्टियों के लिए देश के बाहर निकल लिए थे, परंतु मोदी जी ने अपना 'ब्रांड मोदी' बरकरार रखते हुए सरकार बनने से पहले ही अपना कार्य शुरू कर दिया था, ताकि पहले ही दिन वह देशवासियों के चेहरे पर मुस्कान लायी जा सके।

IRC ने आपको पहले ही यह बता दिया था कि मोदी जी के शपथ लेने के 24 घण्टे के अंदर ही कुछ बड़ी घोषणाएं करेंगे और वही हुआ

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी का पहला निर्णय भारत की रक्षा करने वालों को समर्पित है, नरेन्‍द्र मोदी जी ने अपना पदभार संभालने के बाद अपने प्रथम निर्णय के तहत National Defence Fund में आने वाले ‘Prime Minister’s Scholarship Scheme’ में एक प्रमुख बदलाव को मंजूरी दी है।

देश में शहीदों के बच्चों की पढ़ाई के लिए केंद्र सरकार द्वारा लड़कों को 2000 और लड़कियों को 2250 रुपये हर महीने दिए जाते थे. सरकार ने अब इसको बढ़ाकर लड़कों के लिए 2500 और लड़कियों के लिए 3000 कर दिया है

चाहे प्रचंड गर्मी हो या सर्दी अथवा भारी बारिश, हमारे पुलिसकर्मी पूरी तन्‍मयता के साथ अपने कर्तव्‍य का निर्वहन करते हैं। यहां तक कि  प्रमुख उत्‍सवों के दौरान भी जब पूरा भारत इनका आनंद उठाता रहता है, तो भी हमारे पुलिसकर्मी पूरी ईमानदारी के साथ अपनी ड्यूटी निभाते रहते हैं। इस लिए प्रदधानमंत्री ने scholarship scheme के दायरे में अब ऐसे राज्‍य पुलिस कर्मियों के बच्‍चों को भी ला दिया गया है, जो आतंकी/नक्‍सल हमलों के दौरान शहीद हो गए हैं।

ऐसा नहीं है कि मोदी सरकार ने पहले दिन सिर्फ एक ही बड़ा निर्णय लिया है मोदी सरकार की स्पीड देखकर लग रहा है जैसे इस बार वो फार्मूला वन के रेस ट्रैक पर दौड़ने की तैयारी में है जय जवान के बाद अब बारी है जय किसान की

इसके साथ ही मोदी सरकार ने अपने संकल्प पत्र का पहला वादा पूरा करते हुए पीएम किसान सम्मान निधि योजना का दायरा बढ़ा दिया है. पहले 2 हेक्टेयर से कम ज़मीन वाले किसानों को 6000 रुपया सालाना देने का प्रावधान था, अब सभी किसानों को पीएम किसान योजना का लाभ मिलेगाइसके लिए 12,500 करोड़ का अतिरिक्त प्रावधान किया गया है! 14.5 करोड़ किसानों को अब इसका लाभ मिलने वाला है

सरकार की कैबिनेट की पहली बैठक में करोड़ों किसानों को पेंशन की कवरेज प्रदान करने का भी ऐतिहासिक फैसला लिया गया। यह अग्रणी योजना राष्ट्र को अनाज मुहैया कराने के लिए दिन-रात मेहनत करने वाले हमारे परिश्रमी किसानों को पेंशन की सुविधा उपलब्ध कराएगी। आजादी के बाद यह पहला मौका है, जब किसानों के लिए पेंशन कवरेज की परिकल्पना की गई है।

यह देश भर के छोटे और सीमांत किसानों के लिए स्वैच्छिक और अंशदायी पेंशन स्कीम है। अनुमान है कि प्रारंभिक तीन वर्षों में पांच करोड़ छोटे और सीमांत किसान इससे लाभांवित होंगे।

केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने मवेशी पालन करने वाले किसानों की सहायता के लिए पैर और मुंह के रोग (FMD) और ब्रुसोलोसिस पर नियंत्रण हेतु नई पहल को मंजूरी दी है।

अगले पांच वर्षों में देश से मवेशियों की इन बीमारियों को पूरी तरह नियंत्रित करने और उसके बाद इन्हें जड़ से मिटाने के लिए 13,343 करोड़ रुपये के कुल खर्च को मंजूरी दी गयी है। इसके अन्तर्गत 30 करोड़ गाय और भैंस, 20 करोड़ भेड़ और 1 करोड़ सुवर का टीकाकरण किया जाएगा

जवान और किसान के बाद भारत के आर्थिक विकास में निरंतर बहुमूल्य योगदान देने वाले व्यापारियों को प्राथमिकता दी गई है।

सरकार ने अपने अंतरिम बजट में व्यापारियों को मासिक 3 हज़ार रुपये पेंशन के वादे को भी पूरा कर दिया है. इस योजना में GST के तहत रजिस्टर्ड 1.5 करोड़ रुपये से कम टर्नओवर वाले सभी दुकानदारों, खुदरा व्‍यापारियों और स्‍व-रोजगार करने वाले लोगों को 60 वर्ष की आयु हो जाने के बाद 3000 रुपये की न्‍यूनतम मासिक पेंशन को सुनिश्चि‍त किया गया है।

मोदी सरकार का एक और बड़ा वादा, जलशक्ति मंत्रालय बनाने के लिए भी था. मंत्रिमंडल के गठन और मंत्रालयों के वितरण के साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने चुनावी घोषणा पत्र का यह एक वादा भी पूरा कर दिया। उन्होंने पहली बार जलशक्ति मंत्रालय का गठन किया है। जलशक्ति मंत्रालय पहले के जल संसाधन, नदी विकास और गंगा कायाकल्प मंत्रालय को पुनर्गठित कर बनाया गया है।

कुल मिलाकर इस बार मोदी सरकार विपक्ष के लिए कोई भी स्कोप नहीं छोड़ना चाहती है एक तरफ जहां राहुल गांधी ने अपने कार्यकर्ताओं को मोदी सरकार से इंच इंच लड़ने को कहा है वहीं मोदी सरकार गांधी परिवार द्वारा दी गयी देश की परेशानियों से लड़ रही है।

उम्मीद है कि आने वाले समय में हमको और बड़े निर्णय सुनने को मिलेंगे. 303 सीटों का बहुमत अब ज़िम्मेदारियों के लिए बड़े पैमाने पर तैयार रहने का आदेश दे रहा है. और मोदी सकरकार ने पहले ही दिन अपने इरादे साफ कर दिए हैं।

Source -

0 Comments