Trending Discussions

Politics - Elections 2019

क्यों सच होता दिख रहा है "अबकी बार 400 पार" का नारा , सामने आए यह चौकाने वाले आंकड़े

by IRC-ADMIN - May 6 2019 10:00PM

इस बार 2019 के लोकसभा चुनाव कुछ विशेष होने वाले हैं, इस बार स्वतंत्र भारत के इतिहास में सबसे अधिक मतदान होने का रिकॉर्ड बनने वाला हैं। पिछले 2014 के आम चुनावों का मतदान प्रतिशत 66.40% था, जोकि इतिहास में  सबसे अधिक रहा। इससे पहले, 1984-85 के चुनावों में यह रिकॉर्ड बना था, जिसमें 64.01% मतदान हुआ था।



अब तक 2019 के आम चुनावों में 5 वें चरण से पहले 4 चरणों में से 3 में उच्च मतदान हुए हैं।  पहले चरण में 2014 में इन्हीं सीटों के लिए 69.5% के बदले 68.77% मतदान हुआ था। दूसरे चरण में मामूली गिरावट दिखाते हुए 69.44% का मतदान हुआ जो 2014 में 69.62% था और तीसरे चरण में 68.40% मतदान हुआ जो 2014 में 67.15% था। जबकि चौथे चरण ने 2014 के 63.05% के बदले 2019 में 65.51% मतदान दर्ज किया।


इसका क्या मतलब:

यह भी देखा जा रहा है कि इस बार जितनी भी नयी वोटें बानी हैं, जिसमे सबसे अधिक युवा वर्ग ही है, उनमे से 90 प्रतिशत वोट मोदी को ही जा रहा है, सिर्फ मोदी को वोट डालने के लिए स्थानांतरण के बाद लोगों ने अपने वोट बनवाएं हैं। सोशल मीडिया पर ऐसे हज़ारो पोस्ट भी देखे गए हैं जहां लोग विदेशों से सिर्फ मोदी को वोट डालने के लिए हज़ारो-लाखों खर्च करके भारत आ रहे हैं। वोट प्रतिशत बढ़ने का एक बड़ा कारण बच्चों से लेकर बुज़ुर्गों में नरेंद्र मोदी जी की लोकप्रियता भी है। IRC के एक इंटरव्यू में भी सामने आया था कि बहुत लोग जिन्होंने अभी तक अपने मत का प्रयोग नहीं किया था वह इस बार सिर्फ मोदी को डालने के लिए वोट डालने वाले हैं। कुल मिला कर नरेंद्र मोदी के वोटर इस बार पूर्ण उत्साह के साथ बढ़-चढ़ के हिस्सा ले रहे हैं और यह बढ़े हुए आंकड़े इसी को दर्शा रहें हैं।

अभी दो महत्वपूर्ण चरण और बाकी हैं, अगर मत प्रतिशत की दर ऐसे ही बढ़ा तो भाजपा समर्थकों द्वारा दिया गया नारा "अबकी बार 400 पार" सच भी हो सकता है।

Source -

0 Comments